कर्नाटक विधानसभा अध्यक्ष ने सीएम और मंत्रियों से सदन में उपस्थित रहने को कहा

बेंगलुरू . कर्नाटक विधानसभा के अध्यक्ष (karnataka assembly speaker) विश्वेश्वर हेगड़े कागेरी ने मंगलवार को मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई ( Basavaraj S Bommai ) और संसदीय कार्य मंत्री जे सी मधुस्वामी से सदन की कार्यवाही के दौरान मंत्रियों को सदन में उपस्थित रहने का निर्देश देने का आग्रह किया. कर्नाटक विधानसभा का दस दिनों का सत्र 13 से 24 सितंबर तक बेंगलुरु में होगा. कागेरी के कार्यालय की ओर से जारी की गयी एक सूचना के मुताबिक विधानसभा अध्यक्ष ने बोम्मई और मधुस्वामी को अलग-अलग पत्र लिखकर कहा कि सदन की कार्यवाही के दौरान अनुपस्थित रहने के लिए मंत्रियों को पूर्व अनुमति लेनी चाहिए.

विधानसभा अध्यक्ष ने कहा कि अपने विधानसभा क्षेत्र में किसी अन्य काम में व्यस्त होने के कारण मंत्री सदन की कार्यवाही में उपस्थिति से छूट पा सकते हैं. कर्नाटक विधानसभा का दस दिनों का सत्र 13 से 24 सितंबर तक बेंगलुरु में होगा. कागेरी ने कहा कि मंत्रियों को यह सलाह दी जानी चाहिए कि सदन की कार्यवाही के दौरान उनका वहां उपस्थित रहना बेहद महत्वपूर्ण है, क्योंकि संबंधित मंत्रियों को सार्वजनिक महत्व के मामलों पर सदस्यों द्वारा उठाए गए सवालों का जवाब देना होगा.

ये भी पढ़ें : देश में दी गई कोविड टीके की 65 करोड़ खुराक में से 60 करोड़ से ज्यादा कोविशील्ड की: सूत्र

ये भी पढ़ें : J&K: आतंकवाद के दलदल से अपने बच्चों को बाहर निकालें, आतंकी बने युवाओं के परिवारों से सेना की अपील

विधानसभा अध्यक्ष ने मुख्य सचिव को सत्र के दौरान अधिकारियों को उपस्थित रहने का निर्देश देने का भी आदेश दिया है. बोम्मई मंत्रिमंडल में मोटे तौर पर पिछली बीएस येडियुरप्पा कैबिनेट में शामिल रहे चेहरे ही हैं, जबकि छह नए नेताओं को भी कैबिनेट में जगह दी गई है. येडियुरप्पा के इस्तीफे के बाद पिछले हफ्ते भाजपा विधायक दल के नए नेता के रूप में चुने गए बोम्मई ने 28 जुलाई को मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली थी. इसके बाद यह विधानसभा सत्र कई मायनों में अहम हो गया है.

गौरतलब है कि इस बार विधानसभा सेे बार-बार बाहर निकलने वाले विधायकों को ऐसा न करने को कहा गया है. वहीं सत्र में पूरा मंत्रिमंडल शामिल होगा. इसमें शपथ लेने वाले 29 मंत्रियों में से गोविंद करजोल, केएस ईश्वरप्पा, आर अशोका और श्रीरामुलु ने सबसे पहले शपथ ली थी. इसमें एक अनुसूचित जाति, एक ओबीसी, एक वोक्कालिगा और अनुसूचित जनजाति के हैं जिससे यह साफ होता है कि कर्नाटक की नई कैबिनेट में सभी जातियों का समावेश है. हालांकि इसमें से कोई भी उपमुख्यमंत्री नहीं है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *