किसान आंदोलन पर नहीं होगा ‘राजनीतिक दलों की कलह’ का असर, संयुक्त किसान मोर्चा ने कहा

नई दिल्ली. चरनजीत सिंह चन्नी के पंजाब के नये मुख्यमंत्री के तौर पर शपथ लेने के बाद संयुक्त किसान मोर्चा ने सोमवार को कहा कि केंद्र सरकार के तीन कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों का आंदोलन राजनीतिक दलों की आपसी कलह की वजह से प्रभावित नहीं होगा.

संयुक्त किसान मोर्चा (एसकेएम) ने बयान जारी कर कहा, ‘हमारी मांगें माने जाने तक किसान आंदोलन मजबूती के साथ शांतिपूर्ण तरीके से जारी रहेगा. राजनीतिक दलों की आंतरिक कलह या दूसरे दलों के साथ झगड़े से आंदोलन प्रभावित नहीं होगा.’

‘ब्यूरोक्रेसी कुछ नहीं होती, चप्पल उठाने वाली होती है ब्यूरोक्रेसी,’ उमा भारती का Video वायरल

पंजाब में कांग्रेस में सत्ता के लिये संघर्ष के बाद शनिवार को प्रदेश के तत्कालीन मुख्यमंत्री अमरिन्दर सिंह ने त्यागपत्र दे दिया था और इसके बाद चन्नी ने नये मुख्यमंत्री के रूप में पदभार संभाला. मुख्यमंत्री का पद संभालने के बाद चन्नी ने सोमवार को केंद्र सरकार से कृषि कानूनों को वापस लिये जाने की मांग की.

किसानों के 40 संगठनों के प्रमुख संगठन एसकेएम ने कहा कि 27 सितंबर को भारत बंद की पूरी तैयारी चल रही है और प्रदर्शनकारी किसानों को पूरे देश में समर्थन मिला है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *