देवघर में 12 शातिर साइबर अपराधी गिरफ्तार, बैंक पासबुक-ATM समेत कई सामान बरामद

देवघर पुलिस के मुताबिक गिरफ्तार साइबर अपराधी काफी शातिर ढंग से वारदातों को अंजाम देते थे (फाइल फोटो)

देवघर के एसपी अश्विनी कुमार सिन्हा ने बताया कि यह सभी साइबर अपराधी (Cyber Criminals) फर्जी मोबाइल नंबरों के माध्यम से नकली बैंक अधिकारी बनकर एटीएम चालू कराने, केवाईसी आदि के नाम पर लोगों से ओटीपी (OTP) हासिल कर ठगी करते थे

  • News18Hindi

  • Last Updated:
    November 23, 2020, 11:38 PM IST

देवघर. झारखंड के देवघर (Deoghar) जिले में साइबर अपराधियों (Cyber Criminals) के गिरोह का पर्दाफाश हुआ है. सोमवार को पुलिस ने छापा (Raid) मारकर 12 साइबर अपराधियों को गिरफ्तार किया है. देवघर के पुलिस अधीक्षक (एसपी) अश्विनी कुमार सिन्हा ने बताया कि पुलिस ने गुप्त सूचना के आधार पर छापेमारी कर 12 साइबर अपराधियों को धर दबोचा है. गिरफ्तार आरोपियों के पास से 22 मोबाइल, 32 सिमकार्ड, नौ बैंक पासबुक, आठ एटीएम, दो चेक बुक, एक लैपटॉप, एक स्कूटी, एक मोटरसाइकिल और एक कार बरामद की है.

उन्होंने बताया कि इन साइबर अपराधियों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस की दो टीमें बनाई गई थीं. एक टीम ने मार्गो मुंडा थाना अंतर्गत केंदुआटांड़ और देवीपुर थाना के शंकरपुर में छापा मारकर छह साइबर अपराधियों को गिरफ्तार किया. वहीं दूसरी पुलिसि टीम ने खागा थाना अंतर्गत कांकी शिमला ग्राम से छह साइबर अपराधियों को पकड़ा. एसपी सिन्हा ने बताया कि यह सभी साइबर अपराधी फर्जी मोबाइल नंबरों के माध्यम से नकली बैंक अधिकारी बनकर एटीएम चालू कराने, केवाईसी आदि के नाम पर लोगों से ओटीपी (OTP) हासिल कर ठगी करते थे.

गिरफ्तार आरोपियों के नाम- रमेश मंडल, देवेंद्र मंडल, छात्रधारी मंडल, निर्मल मंडल, पवन दास, उदय दास, अनवर अंसारी, शमीम अंसारी, मुजफ्फर अंसारी, सरफुद्दीन अंसारी, रंजीत पंडित और मुरारी गोस्वामी हैं.

इनकी गिरफ्तारी के लिए कुल 29 पुलिस अधिकारियों, हवलदारों और सिपाहियों की टीम गठित की गई थी.

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *