पीएनबी ने 50 लाख रु से अधिक के Home Loan पर ब्याज दर में की 0.5 प्रतिशत कटौती

PNB Home Loan: भारतीय स्टेट बैंक और बैंक ऑफ बड़ौदा की ओर से त्योहारी मौसम के लिये नई पेशकश की घोषणा के एक दिन बाद पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) ने शुक्रवार को 50 लाख से ज्यादा के होम लोन पर ब्याज दर में 0.50 प्रतिशत की कमी करते हुए उसे 6.60 प्रतिशत कर दिया है.

होम लोन पर 0.50 प्रतिशत की कटौती 

बैंक ने एक बयान में कहा, “त्योहारों के मौसम के दौरान पंजाब नेशनल बैंक की ओर से शुरू किए गए कई ऑफर के तहत पीएनबी ने 50 लाख रुपये से अधिक के होम लोन पर ब्याज दर में 0.50 प्रतिशत की कटौती की है.” इसमें कहा गया, “पीएनबी ने घोषणा की है कि अब कितनी भी राशि का होम लोन 6.60 प्रतिशत की दर पर उपलब्ध होगा.”

सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक ने कहा कि ब्याज दर आवेदक के क्रेडिट स्कोर से जुड़ी होगी. बयान के अनुसार, “उक्त दर बकाया कर्ज को स्थानांतरित करने वाले मामलों पर भी लागू होती है और सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों में यह सबसे कम है.” इससे पहले दिन में बैंक ने रेपो आधारित लोन दर में 0.25 प्रतिशत की कटौती कर इसे 6.55 प्रतिशत पर लाने की भी घोषणा की थी.

पीएनबी ने शेयर बाजार को भेजी जानकारी

बैंक ने कहा है कि वह आवास, वाहन, व्यक्तिगत, पेंशन और माईप्रापर्टी कर्ज पर पहले ही सर्विस चार्ज, प्रोसेसिंग फीस से पूरी तरह छूट देने की पेशकश कर चुका है. पीएनबी ने शेयर बाजार को भेजी जानकारी में कहा, ‘‘रेपो से जुड़ी उधारी दर (आरएलएलआर) को 17 सितंबर, 2021 (शुक्रवार) से 6.80 प्रतिशत से घटाकर 6.55 प्रतिशत कर दिया गया है.’’

आरएलएलआर को अक्टूबर 2019 में पेश किया गया था. यह एक फ्लोटिंग दर पर आधारित व्यक्तिगत या रिटेल लोन है, जो बाहरी मानक, जैसे भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) की रेपो दर, से जुड़ा हुआ है. रेपो वह दर है, जिस पर आरबीआई वाणिज्यिक बैंकों को उनकी अल्पकालिक जरूरतों के लिए उधार देता है. त्योहारी मौसम के करीब आने के साथ कई बैंक आवास और रिटेल लोन पर ब्याज दर में कटौती कर रहे हैं.

इसे भी पढ़ेंः
PM Modi on Afghanistan: अफगानिस्तान और आतंकवाद का जिक्र करते हुए क्या कुछ बोले पीएम मोदी? जानें

Covid Vaccination New Record: देश में एक दिन में लगाई गई दो करोड़ से ज्यादा कोरोना वैक्सीन, PM के जन्मदिन पर हुआ रिकॉर्ड टीकाकरण

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *