भारत का एक गांव ऐसा जहां एक शख्स को छोड़ सभी हो गए कोरोना पॉजिटिव

हिमाचल प्रदेश के थोरंग गांव में एक शख्स को छोड़ कर कोई है कोरोना पॉजिटिव.

52 साल के भूषण ठाकुर अपने गांव के ऐसे अकेले व्यक्ति हैं, जिन्हें कोरोना वायरस (Coronavirus) छू भी नहीं सका है. हालांकि भूषण के परिवार के सभी अन्य छह सदस्य कोरोना पॉजिटिव हैं. जानें उन्होंने खुद को इस वायरस से कैसे बचाया…

  • News18Hindi

  • Last Updated:
    November 23, 2020, 7:35 PM IST

लाहौल स्पीति. देश में कोरोना वायरस (Coronavirus) का संक्रमण जिस समय तेजी से बढ़ रहा था, उस वक्त हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) की पहाड़ी पूरी तरह से सुरक्षित थी. लाहौल स्फीती जिले में कोरेाना (Corona) के शुरुआती दौर में दो से तीन महीने तक एक भी कोरोना का मरीज सामने नहीं आया. हालांकि लॉकडाउन खुलने के बाद यहां पर भी कोरोना ने दस्तक दे दी. हिमाचल के थोरंग गांव की हालत कुछ ऐसे बदले कि यहां पर 52 वर्षीय एक शख्स को छोड़कर पूरा का पूरा गांव कोरोना पॉजिटिव हो गया. इस घटना ने साबित किया कि अगर सोशल डिस्टेंसिंग का ईमानदारी से पालन किया जाए तो कोरोना से बचा जा सकता है.

52 साल के भूषण ठाकुर गांव के ऐसे अकेले व्यक्ति हैं, जिन्हें कोरोना वायरस छू भी नहीं सका है. हालांकि भूषण के परिवार के सभी अन्य छह सदस्य कोरोना पॉजिटिव हैं. भूषण ने बताया कि जब से उनके गांव में कोरोना का पहला मामला सामने आया है तब से ही उन्होंने अपने आपको एक अलग कमरे में कैद कर लिया है. इतना ही नहीं वह अपना भोजन खुद बनाते हैं. गांव में तेजी से कोरोना का संक्रमण फैलने के बाद जब भूषण ने अपने पूरे परिवार के साथ सैंपल दिया तो भूषण को छोड़कर सभी की रिपोर्ट पॉजिटिव आई. भूषण ने इस बात को माना है कि अगर सोशल डिस्टेंसिंग का पूरी ईमानदारी से पालन किया जाए तो कोरोना से बचा जा सकता है.

लाहौल-स्पीति के सीएमओ डॉ. पलजोर ने कहा कि शायद भूषण का इम्युनिटी सिस्टम बेहद मजबूत है. पूरे गांव की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बावजूद भूषण की रिपोर्ट निगेटिव आना हैरान करने वाला है.इसे भी पढ़ें : कोविड-19 की वर्तमान स्थिति की समीक्षा के लिए राज्यों के साथ बैठक कर सकते हैं PM मोदी लाहौल-स्पीति जिले के पुलिस उपायुक्त पंकज राय ने बताया कि इस गांव में करीब 160 लोग रहते हैं लेकिन बर्फबारी के बाद से काफी लोग कुल्लू चले गए हैं. कुछ दिन पहले गांव के 5 लोग कोरोना पॉजिटिव मिले थे. इसके बाद गांव के सभी 42 लोगों ने स्वेच्छा से कोरोना टेस्ट कराने का फैसला लिया था. टेस्ट में भूषण को छोड़कर सभी लोग कोरोना पॉजिटिव मिले हैं.

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *