विदेश में नौकरी के नाम पर महिला डॉक्टर को लूटा, आप भी रहें सावधान!

नई दिल्ली. यदि आप विदेश जाकर नौकरी (Jobs Abroad) करने का सपना देखते हैं तो ये ख़बर आपके बहुत काम की है. आपको सावधान रहना होगा कि कहीं कोई ठग (Fraudster) आपकी उस पूंजी को ही न उड़े, जिसे आपने विदेश जाने के नाम पर सहेजकर रखा हुआ है. हम ऐसा इसलिए कह रहे हैं क्योंकि ऑनलाइन या साइबर फ्रॉड (Cyber Fraud) इतने अधिक बढ़ गए हैं कि वे आपको लूटने के लिए किसी भी हद तक जा सकते हैं. वे बैंक के नकली ऑफिसर बनकर आपकी जेब काट सकते हैं, कस्टम अधिकारी बनकर लूट सकते हैं या फिर आपको विदेश में वर्क परमिट (Work Permit) दिलाने और वीज़ा (Visa) लगवाने के नाम पर चूना लगा सकते हैं.

इस बार ख़बर आई है हिमाचल प्रदेश से. यहां पर रहने वाली एक महिला डॉक्टर को 6 लाख रुपये की चपत लगी है. हालांकि ये महत्वपूर्ण नहीं है कि ख़बर कहां से आई है और कौन इसका शिकार बना है, महत्वपूर्ण ये है कि ये ठगी कैसे हुई और आपको इस तरह की ठगी से कैसे बचना चाहिए.

वेबसाइट पर डाला था रिज्यूमे

पंजाब केसरी की एक ख़बर के अनुसार, ज्वालामुखी विधानसभा के अंतर्गत आने वाले एक बड़े सरकारी चिकित्सा संस्थान में एक महिला डॉक्टर तैनात हैं. उस महिला ने एक वेबसाइट पर अपना रिज्यूमे (Resume or Biodata) अपलोड किया था, ताकि उसे एक बेहतर नौकरी मिल सके. हम में से बहुत सारे लोग बेहतर नौकरी के लिए अपना रिज्यूम ऐसे ही अलग-अलग नौकरी वेबसाइट पर डालते हैं. उसी वेबसाइट पर मौजूद कंपनियों के एचआर (HR) हमारा रिज्यूम देखकर हमसे जॉब के लिए संपर्क करते हैं.
लेकिन इस महिला डॉक्टर के पास जो फोन आया, वह एक फर्जी कंसल्टिंग एजेंसी का था. उन्होंने बातों-बातों में ऐसा उलझाया कि महिला को यकीन हो गया कि अब उनकी नौकरी विदेश में लग जाएगी.

ये भी पढ़ें – लाडली योजना के नाम पर बनाया उल्लू, किया फ्रॉड

वर्क परमिट और वीजा के नाम पर पैसा

उस कथित कंसल्टिंग एजेंसी (Consulting Agency) ने महिला को बताया कि उनको विदेश में काम करने के लिए वर्क परमिट चाहिए होगा, मेडिकल वीज़ा लगवाना पड़ेगा और हवाई टिकट खरीदना पड़ेगा. इस सबके लिए पैसा पहले जमा करवाना होगा. ठगों ने हालांकि उन्हें भरोसा दिलाया कि उन्हें (महिला डॉक्टर को) किसी भी काम के लिए कहीं आना-जाना नहीं पड़ेगा, पूरा काम उनकी एजेंसी करवाएगी. उनको केवल विदेश जाने की तैयारी करनी चाहिए.

अब जाहिर है विदेश में नौकरी के लिए वर्क परमिट और वीज़ा तो चाहिए ही और साथ में जाने का टिकट भी खरीदना होता है. इन्हीं तीनों चीजों (वर्क परमिट, वीज़ा और हवाई टिकट) के नाम पर महिला डॉक्टर ने दो बार 3-3 लाख रुपये जमा करवाए. इस दौरान उस एजेंसी ने एक नकली जॉब लेटर भी भेजा. हालांकि बाद में उन लोगों से संपर्क नहीं हो सका. महिला ने जब इस लेटर की पुष्टि के लिए भारतीय दूतावास से संपर्क किया तो उन्हें पता चला कि वह जॉब ऑफ़र लेटर नकली है. तब महिला डॉक्टर को समझ आया कि उनके साथ बड़ी धोखाधड़ी हो गई है.

ये भी पढ़ें – ITC की डीलरशिप के नाम पर भयंकर फ्रॉड! 

महिला डॉक्टर ने पुलिस को शिकायत दी है. पुलिस ने अज्ञात लोगों के खिलाफ मामला भी दर्ज कर लिया है. पुलिस ने इसके बाद सब लोगों से अपील की है कि इस तरह के कई केस देखने को मिल रहे हैं, जिसमें कि टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल करके लोगों को ठगी का शिकार बनाया जा रहा है. इसलिए कोई भी काम ऑनलाइन करते समय आपको सतर्कता बरतनी चाहिए.

कैसे बचें ऐसे फ्रॉड से

आपने भी यदि कहीं अपना रिज्यूमे अपलोड किया है तो परेशान होने की जरूरत नहीं है. यदि कोई कंपनी या कंसल्टिंग एजेंसी आपसे सपंर्क करती है सबसे पहले आपको उस कंपनी या एजेंसी के बारे में अच्छे से जान लेना चाहिए. इसके बाद यदि कोई भी कंपनी या फर्म आपसे पैसा मांगती है तो आपको तुरंत अलर्ट हो जाना चाहिए, क्योंकि कोई भी अच्छी कंपनी या एजेंसी आपसे पैसा नहीं मांगती. न तो वीजा लगवाने के नाम पर और न ही हवाई टिकट के लिए. उस कंपनी का काम केवल इतना होता है कि वह आपको और इस कंपनी (जो हायर करना चाहती है) को आपस में मिलवाए. इसके बाद जॉब ऑफ़र भी वही कंपनी देगी, जो आपको हायर करने वाली है, न कि वह कंस्ल्टेंसी एजेंसी. जॉब का ऑफ़र मिलने के बाद आपको खुद वीज़ा और हवाई टिकट की प्रक्रिया पूरी करनी होती है.

बता दें कि इन दिनों बहुत अलग-अलग तरीकों से फ्रॉड हो रहे हैं. इसलिए News18Hindi ने एक सीरीज़ चलाई है, जिसमें इस तरह के तमाम फ्रॉड्स के बारे में विस्तार से बताया गया है. आपको ये पूरी सीरीज़ अवश्य पढ़नी चाहिए ताकि आप खुद को और अपने जानकारों को इस तरह के फ्रॉड्स से बचा सकें. उस सीरीज का लिंक – यहां देखें.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *