विराट कोहली का चेतेश्वर पुजारा पर निशाना! कप्तान बोले-कुछ खिलाड़ी रन बनाने का जज्बा नहीं दिखा रहे

नई दिल्ली. न्यूजीलैंड के हाथों विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप फाइनल (WTC Final 2021) में मिली हार के बाद भारतीय कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) ने टेस्ट टीम में बदलाव के संकेत दिए हैं. कोहली ने कहा कि समीक्षा के बाद सही लोगों को लाया जाएगा जो अच्छे प्रदर्शन के लिए सही मानसिकता के साथ उतरें. भारतीय बल्लेबाजों ने फाइनल में निराश किया जिससे टीम को आठ विकेट से पराजय झेलनी पड़ी. कोहली ने किसी का नाम नहीं लिया लेकिन कहा कि कुछ खिलाड़ी रन बनाने का जज्बा ही नहीं दिखा रहे हैं. सीनियर बल्लेबाज चेतेश्वर पुजारा (Cheteshwar Pujara) ने 54 गेंद में आठ रन बनाये और अपने पहले रन के लिये 35 गेंद खेली. उसके बाद दूसरी पारी में 80 गेंद में 15 रन बनाये. न्यूजीलैंड ने 139 रन का लक्ष्य आसानी से हासिल कर लिया.

कोहली बोले-टीम में सही लोगों का लाना होगा

कोहली ने मैच के बाद कहा, ‘‘हम आत्ममंथन करते रहेंगे और इस पर बात होती रहेगी कि टीम को मजबूत बनाने के लिये क्या करना चाहिये. एक ही ढर्रे पर नहीं चलेंगे.’’ उन्होंने कहा, ‘‘ हम एक साल तक इंतजार नहीं करेंगे. आप हमारी सीमित ओवरों की टीम देखें तो हमारे पास गहराई है और खिलाड़ी आत्मविश्वास से भरे हैं. टेस्ट क्रिकेट में भी इसकी जरूरत है.’’ कोहली ने कहा, ‘‘हमें नये सिरे से समीक्षा करके योजना बनानी होगी और यह समझना होगा कि टीम के लिये क्या असरदार है और हम कैसे बेखौफ खेल सकते हैं. सही लोगों को लाना होगा जो अच्छे प्रदर्शन की सही मानसिकता के साथ उतरें.’’

गेंदबाजों का निडर होकर सामना करना होगा-कोहली

उन्होंने न्यूजीलैंड जैसे शानदार गेंदबाजी आक्रमण के सामने रन बनाने के बारे में भी बात की. उन्होंने कहा, ‘‘हमें इस पर काम करना होगा कि रन कैसे बनाये जायें. हमें मैच को अपने हाथ से निकलने नहीं देना है. मुझे नहीं लगता कि कोई तकनीकी परेशानी है.’’ कोहली ने कहा, ‘‘ यह जागरूकता की और गेंदबाजों का निडर होकर सामना करने की बात है. गेंदबाजों को लंबे समय तक एक ही जगह गेंदबाजी के मौके नहीं देने हैं बशर्ते गेंद जबर्दस्त स्विंग नहीं ले रही हो जैसा पहले दिन हुआ था. ’’

यह भी पढ़ें:

टीम इंडिया WTC का फाइनल क्यों हारी, सचिन तेंदुलकर ने बताई इसकी वजह

WTC Final: विराट कोहली को हार के बावजूद कोई पछतावा नहीं, बोले-सही टीम उतारी थी

उन्होंने बल्लेबाजों से सुनियोजित जोखिम लेने और क्रीज पर डटे रहने के बीच संतुलन बनाने के लिये कहा. उन्होंने कहा, ‘‘फोकस रन बनाने पर होना चाहिये, विकेट गंवाने की चिंता पर नहीं. इसी तरह से विरोधी टीम पर दबाव बना सकते हैं वरना आप आउट होने के डर से खेलेंगे. आपको सुनियोजित जोखिम लेना ही होगा.”

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *