विश्व कुश्ती में सिल्वर जीत अंशु मलिक पहुंचीं घर, बोलीं- ओलंपिक का मलाल नहीं, अब अगला टारगेट एशियन गेम्स

सोनीपत. विश्व कुश्ती चैंपियनशिप में सिल्वर मेडल जीतकर इतिहास रचने वाली अंशु मलिक, जब आज अपने होम टाउन गोहाना पहुंची तो पहलवान अंशु का जोरदार स्वागत हुआ. उन्हें नोटों की माला पहनाई गई और ढोल-ढमाके के साथ मेडल विजेता का स्वागत किया गया. विश्व कुश्ती चैंपियनशिप में सिल्वर मेडल जीतने वाली पहली महिला बनीं अंशु मलिक ने कहा उनको आज उन्हें बहुत ज्यादा खुशी है कि उसने अपने देश के लिए मेडल जीता है. आगे वह और कोशिश करेगी, जिससे देश के लिए गोल्ड मेडल लेकर आये.

अंशु मलिक ने ओलंपिक में मिली हार को लेकर कहा कि वो वक्त अब बीत चुका है, लेकिन अब अगले वर्ष एशियन गेम्स और कॉमनवेल्थ गेम होने जा रहे हैं, इसलिए अब वो उनकी तैयारी करेंगी. अंशु मलिक ने कहा अबकी बार वो चोट की वजह से फानइल में अपना 100 प्रतिशत नहीं दे पाईं. जिसके चलते वो गोल्ड लाने से चूक गईं.

देश की पहली महिला पहलवान, जिससे विश्व कुश्ती में सिल्वर जीता

भारत की महिला पहलवान अंशु मलिक ने नॉर्वे के ओस्ले में चल रही विश्व कुश्ती चैंपियनशिप में सिल्वर मेडल जीतकर इतिहास रच दिया है. वे ऐसा करने वाली पहली भारतीय महिला पहलवान बन गई हैं. 57 किलोग्राम भार वर्ग में अंशु को फाइनल में हार का सामना करना पड़ा. अंशु फाइनल में अमेरिका की हेलेन मारौलिस के हाथों 4-1 से हार गईं. हार के बाद अंशु दर्द से जूझती दिखीं और रो पड़ीं.

हालांकि, उन्होंने एक रिकॉर्ड अपने नाम किया. अंशु इस प्रतिष्ठित टूर्नामेंट के फाइनल में पहुंचने वाली पहली भारतीय महिला पहलवान बन गई हैं. 19 साल की अंशु ने सेमीफाइनल में जूनियर यूरोपीय चैंपियन सोलोमिया विंक को तकनीकी दक्षता के आधार पर हराया था.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *