Crime की अजब कहानी! लवर ने नौकरानी की मालिकन को लूटा, अपराध के पाप से बचने महाकाल के दरबार में मांगी माफी

ग्वालियर. मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के ग्वालियर (Gwalior) में क्राइम (Crime) की एक अजब ही कहानी सामने आई है. एक बीए फर्स्ट ईयर के छात्र को फेसबुक (Facebook) के जरिए एक लड़की से दोस्ती हुई. दोस्ती प्यार में बदली तो लड़का अपनी प्रेमिका (Lover) से मिलने पहुंचा. घर और वहां की सुविधाएं देख हैरान रह गया. प्रेमिका ने बताया कि वो इस घर की नौकरानी है. 70 साल की रिटायर्ड शिक्षिका उसकी मालकिन है, उन्हीं की देखभाल के लिए वो यहां रहती है. छात्र की नजर बुजुर्ग महिला पर पड़ी, जिसने हाथ में सोने के कड़े पहन रखे थे. यहीं से अपराध की साजिश शुरू हो गई.

ग्वालियर में 7 दिन पहले घर में अकेली 70 साल की रिटायर्ड शिक्षिका को बंधक बनाया, मुंह में कपड़ा ठूंसकर गहने और कैश लूटने का केस दर्ज किया गया था. पुलिस ने मामले में दो बदमाशों को गिरफ्तार किया है, जो BA फर्स्ट ईयर के छात्र हैं. लूट के बाद आरोपियों को अपने अपराध का बोध हुआ तो वो सीधे उज्जैन निकल गए. उज्जैन में बाबा महाकाल के दर्शन कर उनसे लूट के लिए माफी भी मांगी. साथ ही वहां दान पुण्य किया, जिससे लूट का पाप उन पर न लगे. जब दोनों बदमाश उज्जैन में क्षमा याचना कर रहे थे तो यहां पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज और एक ऑटो वाले की मदद से दोनों की पहचान कर ली. इसके बाद बीते मंगलवार की सुबह जैसे ही दोनों छात्र लौटे तो पुलिस ने उनको हिरासत में ले लिया.

8 साल से काम कर रही थी लड़की
पुलिस के मुताबिक लड़की बुजुर्ग महिला के यहां 8 साल से काम कर रही थी. आरोपी कई बार वहां उससे मिलने जाता था. हर बार अकेली महिला और उसके सोने के कड़े देखकर उसके मन में लालच आ जाता था. यहीं से उसने लूट की प्लानिंग की. हालांकि पुलिस का कहना है कि लड़की को घटना के संबंध में कुछ भी पता नहीं था. दरअसल जनकगंज स्थित न्यू शांति नगर निवासी 70 साल की प्रतिभा भटनागर रिटायर्ड शिक्षिका हैं. वह घर में अकेली रहती हैं. उनके साथ ही एक महिला और महिला की नाबालिग बेटी (16 साल) उनकी देखरेख के लिए रहती है. बीते 6 अक्टूबर दोपहर करीब 12 बजे नौकरानी महिला किसी काम से बाजार गई थी. घर पर किशोरी थी जो दूसरी मंजिल पर स्थित अपने कमरे में खाना खाने गई थी और बुजुर्ग प्रतिभा आराम करने के लिए बेड पर लेटी थी. इसी बीच दो दोनों आरोपी आए और दुपट्टे से उसका मुंह बंद कर मारपीट की और लूट की.

इस तरह से लुटेरों तक पहुंची पुलिस
पुलिस ने छानबीन शुरू की तो एक बिल्डिंग पर लगे सीसीटीवी फुटेज में पहला सुराग मिला. दो लड़के घर की तरफ जाते हुए दिखे. पुलिस ने छानबीन की तो एक जगह फुटेज में दोनों लड़के ऑटो में बैठते दिखे. पुलिस की टीम ने 24 घंटे में ऑटो को ढूंढ़ निकाला. पता लगा कि ऑटो चालक ने दोनों लड़कों को हजीरा चौराहा पर उतारा था. इसके बाद पुलिस ने हजीरा चौराहा से CCTV फुटेज का चेक करना शुरू किए तो हजीरा के प्रसाद नगर तक पहुंचे. यहां फुटेज में दिखने वाले लड़कों की पहचान मोनू गोस्वामी, सन्नी पाल उर्फ शुभम उर्फ सन्नी शाक्य के रूप में हुई. उनके घर पता लगवाया तो जानकारी मिली कि वह उज्जैन गए हैं. इसके बाद पुलिस ने इंतजार किया.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *