Delhi Crime: इंटरस्टेट वाहन चोर रैकेट का पर्दाफाश, दिल्ली से चुराए वाहनों को मणिपुर में बेचते थे

नई दिल्ली. दिल्ली पुलिस (Delhi Police) के साउथ जिला की टीम ने एक अन्तर्राज्यीय वाहन चोर गिरोह (Interstate Auto Lifter Gang) का भंडाफोड़ किया है. गिरोह के दो सदस्यों को गिरफ्तार कर पुलिस टीम ने सात दो पहिया वाहन भी जब्त किया है. वहीं, 26 चोरी के दो पहिया वाहनों की पहचान भी की गई है. ‌इन दोनों वाहन चोरों की गिरफ्तारी के बाद पुलिस ने वाहन चोरी के 16 मामलों को सुलझाने का दावा किया है.

साउथ जिला उपायुक्त अतुल कुमार ठाकुर के मुताबिक थाना कोटला मुबारकपुर की एक टीम में उपनिरीक्षक अमित कुमार, उपनिरीक्षक सत्य प्रकाश, प्रधान सिपाही राजेश कुमार, प्रधान सिपाही सतेंद्र, सिपाही कुलबीर सिंह, सिपाही नरेश कुमार, सिपाही श्री राम, सिपाही कुलदीप एवं सिपाही विपुल कुमार शामिल थे. इस टीम ने अन्तर्राज्यीय गिरोह के वाहन चोर अब्दुल गफ्फार @ फजीत खान और अब्दुल वाहिद की जोड़ी को गिरफ्तार करके सराहनीय कार्य किया है.

ये भी पढ़ें: मोबाइल चोरी के इंटरनेशनल रैकेट का भंड़ाफोड़, मुंबई से दबोचा मास्टरमाइंड, बांग्लादेश, थाईलैंड, सूडान भेज चुका है 5,000 मोबाइल 

उनकी निशानदेही पर चोरी के 07 दोपहिया वाहन  जब्त  किए गए (4 और जब्त किये गए वाहन उत्तर-पूर्व से दिल्ली के रास्ते में और इसके अलावा 15 वाहन उत्तर-पूर्व में खोजे गए). वाहन चोरी के 16 मामले  सुलझाये गए. चोरी किए गए वाहनों को मणिपुर भेज दिया जाता था.

जिला पुलिस उपायुक्त ने बताया कि गिरफ्तार आरोपियों का प्रोफाइल क्रिमिनल ही रहा है. गिरफ्तार आरोपी अब्दुल गफ्फार @ फजीत खान पुत्र अब्दुल कलाम, निवासी भगवान गली, कोटला मुबारकपुर, नई दिल्ली, आयु 34 वर्ष जिला थौबल मणिपुर का रहने वाला है. 2008 में उसने तीन साल तक कपड़े बेचने का कारोबार किया. साल 2011 में उन्होंने शादी कर ली और एक साल से ज्यादा समय तक अपनी ही जमीन पर खेती-बाड़ी करने लगा. उसके बाद साल 2013 में वह बंगलौर चला गया.

पुलिस उपायुक्त ने बताया कि वर्ष 2014 में वह सलीम नाम के एक व्यक्ति के संपर्क में आया, जो एक वाहन चोर था तथा वह दिल्ली से मोटरसाइकिल चुराकर और उन पर फर्जी रजिस्ट्रेशन नंबर की पट्टी लगवाकर, पैकर एंड मूवर्स के जरिए मणिपुर में बेचा करता था.  सलीम के संपर्क में आने के बाद वह भी उसके गिरोह में शामिल हो गया और दिल्ली से मोटर वाहन चोरी करने लगा. पूछताछ करने पर वह मोटर वाहन चोरी के लगभग 32 मामलों में शामिल पाया गया.

इसके अलावा दूसरा वाहन चोर अब्दुल वाहिद पुत्र सिराजुद्दीन,निवासी भगवान गली, कोटला मुबारकपुर, नई दिल्ली, आयु 29 वर्ष, वह भी मणिपुर का रहने वाला है. 2020 में वह अपने जीजा के साथ दिल्ली आया और उसके साथ मिलकर मोटर वाहन चोरी करने लगा. वह मोटर वाहन चोरी के 02 मामलों में शामिल पाया गया.

ये भी पढ़ें: News 18 Exclusive: हत्यारोपी पहलवान सुशील कुमार से रिश्तों पर गैंगस्टर लॉरेंस विश्नोई का बड़ा खुलासा

पूछताछ के दौरान, दोनों आरोपियों ने खुलासा किया कि वे दिल्ली में मोटरसाइकिल चोरी के कई मामलों में शामिल है. पहले वे लोग वाहन चोरी करते थे और उसके बाद चोरी के वाहनों को मणिपुर भेज देते थे.  इसके अलावा, उनके बताने पर चोरी की और अधिक  मोटरसाइकिलों की पहचान की गई.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *