IRCTC ने चलती ट्रेनों में खाने की रिकॉर्ड बुकिंग की, कोरोना से पहले की तुलना डेढ़ गुना अधिक

नई दिल्‍ली. त्‍योहार शुरू होने के साथ ही ट्रेनों (Train) में सफर करने वालों (passengers) की संख्‍या में खासा इजाफा हुआ है. इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि चलती ट्रेनों में खाने की रिकार्ड बुकिंग हुई है. आईआरसीटीसी (IRCTC) के अनुसार कोरोना से पहले जितनी खाने (Food) की बुकिंग होती थी, उससे डेढ़ गुना अधिक हाल ही के दो दिनों में हुई है. आईआरसीटीसी (IRCTC) के अधिकारियों को उम्‍मीद है कि जल्‍द ही यह बुकिंग ऑनलाइन खाना देने वाली कंपनियों के बराबर पहुंच जाएगी.

भारतीय रेलवे (Indian Railway) यात्रियों की सुविधा को देखते हुए लगातार ट्रेनों की संख्‍या बढ़ाता जा रहा है. मौजूदा समय में शताब्‍दी, राजधानी, दुरंतो, मेल और एक्‍सप्रेस मिलाकर करीब 1800 स्‍पेशल ट्रेनों (Special Train) का संचालन हो रहा है. चूंकि त्‍योहारी सीजन चल रहा है, इसलिए ट्रेनों में अधिक संख्‍या में यात्री सफर कर रहे हैं. यात्रियों की संख्‍या बढ़ने के साथ ही चलती ट्रेनों में खाने की रिकॉर्ड बुकिंग भी हो रही है.

इंडियन रेलवे कैटरिंग एंड टूरिज्‍म कॉरपोरेशन (Indian Railway Catering and Tourism Corporation) के अनुसार 8 से 10 अक्टूबर के बीच 32000 खाना पूरे देश में आईआरसीटीसी के जरिए बुक कराया गया है. सामान्‍य दिनों में यह बुकिंग 22000 से 24000 रहती थी. देशभर में करीब 500 रेलवे स्‍टेशनों में ऑनलाइन बुक किया गया खाना चलती ट्रेनों में उपलब्‍ध कराया जा रहा है. ई कैटरिंग के जरिए यात्री कोई भी मनपसंद खाना बुक कर सकते हैं.

आईआरसीटीसी बसों की भी कर रहा है बुकिंग
इंडियन रेलवे कैटरिंग एंड टूरिज्‍म कॉरपोरेशन (Indian Railway Catering and Tourism Corporation) अब देश में बसों (bus) की बुकिंग भी करेगा. यात्री किसी भी शहर के लिए आईआरसीटीसी (IRCTC) के रेल कनेक्‍ट ऐप (rail connect app) के जरिए आसानी से बुकिंग करा सकते हैं.  इसके लिए यात्री से कोई भी अतिरिक्‍त शुल्‍क नहीं लिया जाएगा. हालांकि यह सेवा ट्रायल के रूप में काफी पहले शुरू की गई थी, लेकिन अब ट्रायल सफल होने के बाद पूरी तरह शुरू कर दी गई है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *