UIDAI के इस स्पेशल नंबर पर कॉल करके Aadhar Card की हर समस्या सुलझाएं, 13 भाषाओं में लें समाधान

आधार कार्ड का उपयोग कई सरकारी और गैर सरकारी कार्यों में किया जाता है. सरकार की कई योजनाओं का लाभ लेने के लिए अनिवार्य किया हुआ है. ऐसे में यह हमारे महत्वपूर्ण दस्तावेज में से एक बन गया है. आधार में कोई डिटेल गलत होने से कई बार परेशानी की सामना करना पड़ता है. 

आधार कार्ड से जुड़ी किसी समस्या का समाधान यूनिक आइडेंटिफिकेशन अथॉरिटी ऑफ इंडिया (UIDAI) की ओर से जारी हेल्पलाइन नंबर से हो सकता है. UIDAI आधार कार्ड से जुड़ी जानकारी 13 भाषाओं में उपलब्ध करवा रहा है और इसके लिए विशष नंबर 1947 भी जारी किए गए हैं. 

इन भाषाओं में ले सकते हैं जानकारी
UIDAI के अनुसार 13 भाषाओं में आधार से जुड़ी जानकारी हेल्पलाइन के जरिए ली जा सकती है. इन भाषाओं में असमिया, बंगाली, अंग्रेजी, गुजराती, हिंदी, कन्नड़, मलयालम, मराठी, ओडिया, पंजाबी, तमिल, तेलुगु, उर्दू शामिल हैं. टोल फ्री नंबर 1947 पर आप अपनी सुविधानुसार कॉल कर सकते हैं और 13 भाषाओं में आधार से संबंधित जानकारी पा सकते हैं.  

बच्चों के आधार के लिए जरूर नहीं बायोमेट्रिक डेटा  
अब बच्चों के लिए भी आधार कार्ड की जरूरत पड़ती है. है. ये उनके स्कूल एडमिशन आदि चीजों में काम आ सकता है. अगर बच्चा 5 साल से छोटा हो तो बिना बायोमेट्रिक डाटा के आधार बनवा सकते हैं. इसे बाल आधार भी कहते हैं.

यदि आपका बच्चा पांच साल से कम उम्र का है तो आप उसके लिए बाल आधार बनवा सकते हैं. बच्चों के लिए जारी किया जाने वाला आधार नीले रंग का होता है. बाल आधार के लिए जहां कहीं भी बच्चे की पहचान की जरूरत होती है, वहां उसके माता-पिता को साथ जाना होता है. लेकिन बच्चे के पांच वर्ष के होने पर उसे अपने पास वाले स्थायी आधार केंद्र पर जाकर उसी आधार संख्या से बायोमेट्रिक विवरण रजिस्ट्रर कराना होता है.

यह भी पढ़ें-

हर माह समय पर जमा कराएं RD का पैसा, वर्ना हो सकता है ये नुकसान

Post Office Savings Scheme: इस बचत स्कीम में निवेश करने पर होता है FD से ज्यादा फायदा, 5 साल में 15 लाख के मिलेंगे 21 लाख

 

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *