WTC Final के दौरान रातभर खौफ में रहे ब्रैंडन मैक्कलम, बताई दिल की बात

नई दिल्ली. न्यूजीलैंड के पूर्व कप्तान ब्रैंडन मैक्कलम (Brendon McCullum) सभी गेंदबाजों के लिए खौफ का दूसरा नाम थे लेकिन वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल (IND VS NZ, WTC Final) के दौरान यही खिलाड़ी डरा हुआ था. ये खुलासा खुद ब्रैंडन मैक्कलम ने किया है. वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप का फाइनल देखते हुए पूर्व कप्तान ब्रैंडन मैक्कलम को डर था कि न्यूजीलैंड की टीम एक बार फिर करीब पहुंचने के बावजूद विश्व खिताब नहीं जीत पाएगी. मैक्कलम की खुशी का उस समय हालांकि कोई ठिकाना नहीं रहा जब केन विलियमसन (Kane Williamson) और रॉस टेलर ने भारत के खिलाफ लक्ष्य हासिल करके न्यूजीलैंड को पहली विश्व टेस्ट चैंपियनशिप का खिताब दिला दिया.

न्यूजीलैंड ने साउथैंप्टन में बारिश से प्रभावित मुकाबले में बुधवार को भारत को आठ विकेट से हराकर पहली WTC गदा उठाई. मैक्कलम रोमांचित हैं कि टीम ने अपना पहला विश्व खिताब पारंपरिक प्रारूप में जीता. मैक्कलम ने ‘सेन रेडियो’ से कहा, ‘पिछले कुछ वर्षों में उनका सफर शानदार रहा है और वह सर्वोच्च सफलता का स्वाद चखने के इतने करीब पहुंचे.’ उन्होंने कहा, ‘खेल के शीर्ष प्रारूप में ऐसा करना शानदार है. ईमानदारी से कहूं तो मैं अब भी इस एहसास से नहीं उबर पाया हूं. ‘ मैक्कलम ने कहा, ‘रात को मुकाबला काफी करीबी थी लेकिन इसमें पिछले दो विश्व कप की याद आ रही थी जब हम करीब पहुंचे लेकिन जीत दर्ज नहीं कर पाए.’

मजबूत टीम इंडिया को हराना शानदार है-मैक्कलम

दूसरी पारी में भारत को 170 रन पर ढेर करने के बाद न्यूजीलैंड ने कप्तान विलियमसन (52) और अनुभवी रॉस टेलर (47) की नाबाद पारियों की बदौलत दो विकेट खोकर 139 रन का लक्ष्य हासिल कर लिया. मैक्कलम ने कहा, ‘मौसम और बेहद मजबूत भारतीय टीम के खिलाफ यह नतीजा हासिल करना शानदार है. मुझे यकीन कि आगामी दिनों और हफ्तों यहां तक कि वर्षों तक हम इस लम्हे को देखेंगे और केन की टीम जो हासिल कर पाई है उस पर गर्व करेंगे.’ मैक्कलम के लिए यह जीत और भी संतोषजनक है क्योंकि यह भारत की मजबूत टीम के खिलाफ दर्ज की गई. उन्होंने कहा, ‘बेहद सीमित संसाधन वाले देश के लिए यह शानदार है और विश्व क्रिकेट के शक्तिशाली देश के खिलाफ सबसे बड़े मंच पर इसे हासिल करना और भी अधिक संतोषजनक है.’ (भाषा के इनपुट के साथ)

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *