WTC Final: न्यूजीलैंड चौथे दिन होगी ज्यादा दबाव में, आकाश चोपड़ा ने बताया क्यों

WTC Final: भारत ने पहली पारी में न्यूजीलैंड के खिलाफ 217 रन बनाए (PIC: AP)

WTC Final: न्यूजीलैंड फिलहाल भारत की पहली पारी के कुल योग से सिर्फ 116 रन पीछे और उसके हाथ में 8 विकेट हैं. फिलहाल केन विलियमसन के नेतृत्व वाली टीम ड्राइविंग सीट पर है

नई दिल्ली. आईसीसी वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप का फाइनल (WTC Final) साउथैम्प्टन में भारत और न्यूजीलैंड (India vs New Zealand) के बीच खेला जा रहा है. मैच का तीसरा दिन न्यूजीलैंड के लिए बेहद यादगार रहा. भारत ने 3 विकेट पर 146 रनों के साथ खेलना शुरू किया. खिलाड़ियों से उम्मीद की गई थी कि वे टीम के स्कोर को 250 रनों से आगे ले जाएंगे और नंबर 1 रैंक वाली ब्लैक कैप्स को चुनौती देंगे. हालांकि, उस तरह का कुछ भी नहीं हुआ क्योंकि भारत को काइल जैमिसन ने पांच विकेट झटक कर 217 रन पर ही समेट दिया. जवाब में न्यूजीलैंड के ओपनर टॉम लाथम और डेवॉन कॉनवे ने लंबी बल्लेबाजी की और 70 रन की साझेदारी बनाई. तीसरे दिन का खेल खत्म होने तक न्यूजीलैंड का स्कोर 2 विकेट के नुकसान पर 101 रन है.

न्यूजीलैंड फिलहाल भारत की पहली पारी के कुल योग से सिर्फ 116 रन पीछे और उसके हाथ में 8 विकेट हैं. फिलहाल केन विलियमसन के नेतृत्व वाली टीम ड्राइविंग सीट पर है, लेकिन भारतीय ओपनर से कमेंटेटर बने आकाश चोपड़ा को लगता है कि विराट कोहली के नेतृत्व वाले भारत की तुलना में ब्लैक कैप्स अभी भी अधिक दबाव में होगा. तीसरे दिन का खेल खत्म होने के बाद आकाश चोपड़ा ने स्टार स्पोर्ट्स से कहा, ”न्यूजीलैंड को यह भी देखना होगा कि भारत कहां था. उनका स्कोर 3 विकेट पर 146 रन था. दो सैट बल्लेबाज थे, लेकिन अगली सुबह… यह पूरी तरह से एक अलग दुनिया है. गेंद फिर से घूम रही है. आपको एज मिलेंगे. भारत के टैलेंडर्स नहीं खेल पाए थे. मिडिल ऑर्डर भी ढह गया था. आप वहां नहीं पहुंचे हैं जहां आप पहुंचना चाहते थे. कल भी ऐसी ही बातें सामने आ सकती हैं.”

IND vs NZ Southampton Weather Updates: चौथे दिन दो सेशन पर बारिश का साया, जानिए आज के मौसम का हाल

‘आपको कम से कम 150 रन की बढ़त लेनी होगी’आकाश चोपड़ा ने आगे कहा, ”तो न्यूजीलैंड के दृष्टिकोण से देखें तो वे भी जानते हैं कि वे इससे बाहर नहीं हैं. ध्यान रखें, जिस क्षण आप पहले गेंदबाजी करते हैं. आपको आखिरी बल्लेबाजी करनी होती है और आपको विपक्षी टीम को आउट करना होता है. तो 30-40 रन की बढ़त कुछ नहीं है. इसका मुकाबला करने के लिए आपको कम से कम 150 रन की बढ़त लेनी होगी, पहले गेंदबाजी का फायदा तभी आपको मिलेगा.”

‘चौथे दिन पलट सकती है बाजी’

उन्होंने आगे कहा, ”चीजें बदल सकती हैं, अश्विन को पहले ही विकेट मिल चुका है. उन्हें थोड़ा टर्न मिल रहा है. स्विंग ही एकमात्र ऐसा क्षेत्र है जहां भारतीय गेंदबाज पिछड़ रहे हैं. इसके लिए न अनुशासन और न ही प्रयास. इशांत इकलौते भारतीय गेंदबाज थे, जो स्विंग कराने में सक्षम थे. आज वह दिन है जब भारत के तेज गेंदबाजों को स्विंग ढूंढ़नी होगी. अगर वे ऐसा करने में सफल रहे तो मैच भारत के पक्ष में जाएगा.

WTC Final 2021: न्‍यूजीलैंड के बल्‍लेबाज लगा रहे थे बड़े-बड़े शॉट तो विराट कोहली कर रहे थे भांगड़ा, देखें Video

भारत के दृष्टिकोण से विराट कोहली एंड कंपनी चौथे दिन सुबह के सत्र में अटैक करने के लिए बेताब होगी. अगर वे दबाव बनाने का काम कर सकें, आसान रन न दें और कुछ जल्दी विकेट चटकाएं, तो न्यूजीलैंड के ओपनर्स का काम बेकार हो जाएगा. कीवी टीम को अच्छी बढ़त के लिए इससे जूझना होगा.





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *